दही (Yogurt) खाइए गर्मियों में – सूरज को करिए बेअसर! – जानिए कैसे!

दही जिसे Yogurt या Curd भी कहते हैं, खायी तो किसी भी मौसम में जाती है लेकिन गर्मियों में इसके फायदे हैं बेमिसाल. आज मैं आपको इन्ही के बारे में बता रही हूँ. जानने के लिए पढ़ते रहिये –

1. पेट के लिए अमृत

2. कैल्शियम का बढ़िया स्त्रोत

3. बलवर्धक

4. कोलेस्ट्रोल पर नियंत्रण

5. दिल के लिए

6. अच्छी नींद के लिए

7. जोड़ों के दर्द के लिए

8. चेहरे के लिए

9. मुँह के छाले

10. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी

 

 

ये विडियो भी देखिये –

दही, भारतीय थाली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. थाली में दही होने का मतलब है कि आपकी थाली स्वादिष्ट होने के साथ ही पौष्ट‍िक भी है.हाल में हुई एक स्टडी के अनुसार, दही में मौजूद तत्व शरीर को कई तरीके से फायदा पहुंचाते हैं. ये प्रो-बायोटिक फूड कैल्शियम से भरपूर होता है. कैल्शियम की उपस्थिति दांत और हड्डियों को मजबूती देने का काम करती है.

कैल्शियम के साथ ही ये विटामिन और दूसरे ऐसे कई पोषक तत्वों से भी भरपूर है जो शरीर के लिए जरूरी होते हैं. दही पाचन क्रिया के लिए भी बहुत कारगर है. य‍हां कुछ ऐसे ही कारणों का उल्लेख है जिससे ये साबित होता है कि दही खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है:

1. रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए

हर रोज एक चम्मच दही खाने से भी रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. इसमें मौजूद गुड बैक्टीरिया इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाते हैं.

2. दांतों के लिए फायदेमंद

दही दांत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है. इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम और फॉस्फोरस उपस्थित होता है. ये हड्ड‍ियों की मजबूती के लिए भी बहुत फायदेमंद है. ये ऑस्ट‍ियोपोरोसिस और गठिया में राहत देने का काम करता है.

3. वजन घटाने में कारगर

दही में बहुत अधिक मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है. ये एक ऐसा तत्व है जो शरीर को फूलने नहीं देता है और वजन नहीं बढ़ने देने में सहायक होता है.

4. तनाव कम करने में

दही खाने का सीधा संबंध मस्त‍िष्क से है. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि दही का सेवन करने वालों को तनाव की शिकायत बहुत कम होती है. इसी वजह से विशेषज्ञ रोजाना दही खाने की सलाह देते हैं.

5. ऊर्जा के लिए

अगर आप खुद को बहुत थका हुआ महसूस कर रहे हैं तो हर रोज दही का सेवन करना आपके लिए अच्छा रहेगा.  ये शरीर को हाइड्रेटेड करके एक नई ऊर्जा देने का काम करता है.

ये भी पढ़े-

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे Sandhya Gujral पर Like ज़रूर करें!

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply