fbpx

इस्लाम धर्म को मानने वालों के लिए खुशखबरी, लॉन्च हो गयी विश्व की पहली मुस्लिम एयरलाइन,

इस्लाम को दुनिया का सबसे बड़ा मजहब माना जाता है. इस्लाम को मानने वाले अपनी जिंदगी शरीयत के हिसाब से जीते हैं या जीने की कोशिश करते हैं.

मलेशिया में कुछ दिनों पहले एक ऐसी ही विमानन सेवा की शुरुआत की गई जो पूरी तरह से शरीयत के हिसाब से चलेगी. इसका संचालन मलेशिया की जानी मानी एयरलाइंस कंपनी रयानी एयर के द्वारा किया जा रहा है.

रयानी एयरलाइंस ने इस पहली इस्लामिक विमानन सेवा की पहली उड़ान राजधानी क्वालालम्पुर से लंकावी तक चलाई. इस विमान में 150 पैसेंजर सफर कर रहे थें.

शरीयत के नियमों का होता है पालन

रयानी एयर के सूत्रों के अनुसार उनकी उड़ानों में पूरी तरह से शरीयत का पालन किया जाता है. उड़ान के दौरान एयर होस्टेस शॉर्ट कपड़ों की बजाय हिजाब में नजर आती हैं. उनकी आंखों और हाथों के अलावा शरी का कोई भी हिस्सा नजर नहीं आता है. इस विमानन सेवा की एक खास बात यह है कि शरीयत के हिसाब से संचालन होने के बावजूद इसमें गैर मुस्लिमों को भी नौकरी दी जाती है. अगर कोई दूसरे मजहब की लड़की एयर होस्टेस की जॉब कर रही हैं तो उन्हें हिजाब पहनना अनिवार्य नहीं है लेकिन उन्हें भी सलीके के कपड़े पहनने होते हैं.

शराब और पोर्क पर पूरी तरह से प्रतिबंध

इस्लाम में एल्कोहॉल पूर्ण रुप से हराम माना जाता है, इसलिए विमान में शराब नहीं परोसा जाता है. इसके साथ ही इसमें सिर्फ हलाल मांस ही भोजन में दिया जाता है. पोर्क यानी सूअर के मांस के सेवन पर पूरी तरह से प्रतिबंध होता है. इसके साथ ही सबसे अच्छी बात यह है कि फ्लाइट के टेक ऑफ से पहले नमाज पढ़ी जाती है.

कंपनी को अपनी इस सेवा पर फख्र

रेयानी एयरलाइंस की इस इस्लामिक विमानन सेवा की इस्लाम धर्म के मानने वालों में काफी सराहना हो रही है. जल्द ही उड़ान के दौरान कुरान के आयतों की दुआ भी पढ़े जाने की योजना बनाई जा रही है. कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर जफर जमहारी ने बताया कि मुस्लिम बहुल मलेशिया में इस्लाम के मॉर्डन स्वरुप को अपनाया जा रहा है. ये विमानन सेवा उसकी एक मिसाल है.

दुनिया के कई देश कतार में

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक दुनिया के कई सारे देश रेयानी एयरलाइंस की शरिया के नियमों के मुताबिक एयरलाइंस ऑपरेट करने की योजना पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं. इनमें रॉयल ब्रुनेई एयरलाइंस, सउदी अरेबियन एयरलाइंस, ईरान एयर और यूके की फिरनास एयरवेज भी शामिल हैं.

हिंदू दंपत्ति ने शुरु किया था

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि रेयानी एयरलाइंस जिसकी पहचान शरिया कानूनों का पालन करने वाली विमानन सेवा कंपनी के तौर पर होती है, इसकी शुरुआत एक हिंदू दंपत्ति रवि अलगेंद्रन और उनकी पत्नी कार्थियानी गोविंदन ने की थी.

Leave a Reply