रोज बस एक चुटकी लीजिये, अपने पेट की चर्बी पिघलते देखिये!

अगर आप घरेलु नुस्खों से और सस्ते में वजन कम करना चाहते हैं तो आगे पढ़ते रहिये! Home Remedies for weight loss।

वजन बढ़ने से हर कोई परेशान है. सब इसका कोई न कोई उपाय ढूंढ रहे है. लेकिन हजारों रूपये खर्च करके भी कोई संतोषजनक परिणाम नहीं मिल पाता हैं।

जबकि इसके कईं नुस्खे आपकी रसोई में ही मौजूद हैं. इनमें से एक के बारे में बताया जा रहा है।

सोंठ – दालचीनी – काली मिर्च का चूरन :-

सोंठ, दालचीनी की छाल और काली मिर्च – तीनो चीज़ें हमारी रसोई में मौजूद होती हैं. अगर नहीं भी हैं तो नज़दीक के पंसारी से बड़ी आसानी से मिल जाती हैं।

इनकी कीमत भी बहोत ज्यादा नहीं है. हर कोई खरीद भी सकता है और इस्तेमाल भी कर सकता है. इसके सेवन से आपको जल्दी ही अपने वजन में सुधार महसूस होने लगेगा।

ये वजन कम करने का अच्छा तरीका है. वो भी आयुर्वेद के मुताबिक. इसके साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बिलकुल न के बराबर है।

ये भी पढ़े –6 तरीके जो 7 दिन में पेट को अंदर कर देंगे- जरुर आजमाए

डायबिटीज का पक्का ईलाज !जो डायबिटीज को जड़ से उखाड़ फेंकेगा

सामग्री : –

इसके लिए आपको कोई अलग से सामग्री नहीं चाहिए. बराबर मात्रा में तीनो चीज़ें ले लीजिये। यानी कि :

  • सोंठ – 10 ग्राम.
  • दालचीनी की छाल – 10 ग्राम.
  • काली मिर्च – 10 ग्राम.

तैयार करने की विधि : –

बिलकुल ही आसान और साधारण विधि है. तीनों चीज़ों को अच्छे से सुखा लें. ध्यान रखिये की नमी नहीं होनी चाहिए.

ग्राइंडर है तो ग्राइंडर से पीस लें अन्यथा जैसे आपको सुविधाजनक लगे तीनों चीज़ों का चूरन बना लें. बारीक पीस लें ताकि सेवन में आसानी हो. बस इतना ही करना है।

सेवन की विधि : –

इस चूरन का सेवन करने का सबसे सही है सुबह खाली पेट. आप सुबह उठ कर गरम पानी तो पीते ही होंगे. बस उसी गरम पानी के साथ सुबह उठते ही खाली पेट इस चूरन से 2 ग्राम ले लें. और ऊपर से कम से कम 2 गिलास गरम पानी पियें।

ऐसे ही रात को सोने से पहले भी 2 ग्राम चूरन का सेवन करें.

ध्यान रखिये की पानी ज्यादा भी गरम न हो. बस इतना गरम की गटागट पिया जा सके. मतलब निवाया सा ही गरम होना चाहिए।

कैसे काम करता है?

यह चूरन कोई जादुई औषधि नहीं है. बल्कि साधारण आयुर्वेदिक नुस्खा है. इसके परिणाम धीरे मिलेंगे लेकिन ज़रूर मिलेंगे. इसके काम करने का तरीका यह है की ये तीनो चीज़ें जो इसमें डाली गयी हैं ये सीधे तौर पर वसा रोधी होते हैं यानि कि फैट-कटर।

इससे आपकी चर्बी जल्दी ही कम होने लगेगी और आपको वजन में भी गिरावट के साथ साथ शरीर में हल्कापन भी महसूस होगा. बस आपको नियमित सेवन करना है।

ये भी पढ़े –सप्ताह के इन 2 दिनों में कटवाएँगे बाल और नाख़ून, बन जायेंगे बिगड़े काम, घर मे आयेगी बरकत

यदि इस इंसान से आपको सिर्फ़ 1 रुपया मिल जाए तो हमेशा नोटों से भरा रहेगा आपका पर्स

क्या इसके और भी फायदे हैं?

जी हाँ. ये सिर्फ वजन घटने में ही नहीं काम आता बल्कि इससे शरीर को और भी फायदे हैं. ज्यादातार बीमारियाँ पेट से शुरू होती हैं. अगर आप इस चूरन का नियमित सेवन करते हैं तो ये आपके पेट को स्वस्थ रखता है और पाचन प्रक्रिया को भी दुरुस्त रखता है. इससे आपके वजन को आगे काबू में रखने में मदद मिलती है साथ ही बीमारियों से भी बचाव होता है.

क्या इसके कोई नुक्सान या साइड इफेक्ट्स हैं?

आयुर्वेद पर आधारित घरेलु नुस्खों के 99% तक कोई नुक्सान नहीं होते हैं. लेकिन कुछ चीज़ें ऐसी होती हैं जो व्यक्तिगत रूप से शायद किसी को माफिक नहीं हो. जैसे कुछ चीज़ें गरम तासीर की होती हैं वो सबके लिए ठीक नहीं रहती.

इस चूरन का इस्तेमाल करके आप पहले 2 या 3 दिन देखें. अगर आपको पेट में कोई गड़बड़ महसूस हो तो आगे इसका सेवन न करें.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे फेसबुक (Facebook) पेज – Khabar Nazar पर Like करना न भूलें.

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.  हमारे Sandhya Gujral पर Like ज़रूर करें!

बिना कोई दुष्प्रभाव के साथ सुरक्षित आयुर्वेदिक धातु रोग, मर्दाना कमजोरी, देर तक नहीं टिकना 1 मिंट में निकल जाने की समस्या, शुक्राणु के पतलेपन की आयुर्वेदिक उपचार डॉ नुस्खे हॉर्स पावर किट ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें https://waapp.me/wa/LYyy6LN3 Whats_app 7455-896433 करें!

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply