fbpx

रोज भीगे हुए बादाम खाने के हैं अनेक फायदे, इन्हें जानना होगा आपके लिए फायदेमंद

बादाम महंगे तो आते हैं लेकिन हैं बड़े काम की चीज़! अगर आपको भी बादाम बिना भिगोए खाना पसंद है तो इस विचार को बदलें। बादाम खाने का सही तरीका इसका छिलका उतारकर खाना है। ये केवल स्वाद से ही नहीं बल्क‍ि स्वास्थ्य से जुड़ा़ मामला है। भीगे बादाम खाने से पाचन क्रिया भी संतुलित रहती है। यह lipase नाम का एंजाइम स्त्रावित करता है जो फैट के पाचन के लिए कारगर है।

आइये जानते हैं और क्या-क्या फायदे हैं भीगे बादाम खाने के-

गर्भस्थ शिशु के विकास में मदद

भीगे हुए बादाम में फॉलिक एसिड काफी होता है, ये पोषक तत्व गर्भ के शिशु के मस्तिष्क और न्यूरोलॉजिकल सिस्टम के विकास में मददगार साबित होता है। इसके अलावा, जब बादाम को भिगा दिया जाता है तो उन्हें खाना आसान हो जाता है, गर्भवती महिलाओं की कमज़ोर पाचन क्रिया के लिए यह खाना अच्छा होता है।

पाचन क्रिया बनायें बेहतर

भीगे हुए बादाम पाचन क्रिया को मज़बूत और स्वस्थ बनाता है। भीगे कच्चे बादाम खाने से पेट जल्दी साफ होता है और प्रोटीन पचाना आसान हो जाता है। बादाम का छिलका निकल जाने से उसके छिलके में मौजूद एंजाइम अलग हो जाते हैं और इस वजह से फैट तोड़ने में आसानी होती है। ऐसे में पाचन क्रिया और पोषक तत्वों का अवशोषण आसान हो जाता है।

हाई ब्लड प्रेशर को करे नियंत्रित

बादाम हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए अच्छे होते हैं। बादाम का सेवन करने से ब्लड में अल्फाल टोकोफेरॉल की मात्रा बढ़ जाती है, जो किसी के भी रक्तचाप को बनाये रखने के लिए महत्वपूर्ण होता है। नियमित रूप से बादाम खाने से ब्लड प्रेशर कम होता है। इसलिए अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है तो आपको भीगे बादाम खाने चाहिए।

दिल को रखे दुरुस्त

बादाम एक बहुत ही शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट एजेंट हैं, जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के ऑक्सी्करण को रोकने में मदद करता है। बादाम के ये गुण दिल को स्वस्थ्य रखने और पूरे हृदय प्रणाली को नुकसान और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेकस से बचाने में मदद करता है। अगर आप दिल की बीमारी से पीड़ि‍त हैं तो स्वस्थ रहने के लिए अपने आहार में भीगे हुए बादाम को शामिल करें।

उच्च कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण

उच्च कोलेस्ट्रॉल की समस्या हमारे देश में सबसे आम बीमारियों में से एक होती जा रही है। उच्च कोलेस्ट्रॉल हृदय रोग और दिल की धमनियों में रुकावट समेत कई प्रकार के रोगों का एक बड़ा कारण है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बादाम आपकी मदद कर सकता है। बादाम शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाने में व ‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में बहुत मदद करता है।

वज़न घटाता है

अपनी डायट में भीगे हुए बादाम को शामिल करने से आपका वज़न जल्दी घट सकता है। लो कैलोरी डायट में बादाम शामिल करने से वज़न जल्दी घटाने में मदद मिलती है। बादाम न सिर्फ पाचन क्रिया बेहतर बनाता है बल्कि क्रेविंग भी कम करता है। ये मोटापे का एक बड़ा कारण– मेटाबॉलिक सिंड्रोम से लड़ने में भी मदद करता है।

डायबिटीज़ से बचाव

अगर आपको डायबिटीज़ की शिकायत रहती है तो आपको बादाम का सेवन ज़रुर करना चाहिये। बादाम खाना खाने के बाद शुगर और इंसुलिन का लेवल बढ़ने से रोकता है। जिससे डायबिटीज़ से बचा जा सकता है। तो फिर किस बात की देरी है, रोज सुबह भीगे बादाम खाकर आप भी अपने शरीर को पोषण से भरपूर करें।

मस्तिष्क के विकास के लिये

बादाम में ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो मस्तिष्क के विकास के लिए बहुत अच्छे होते हैं। ये बच्चों के मस्तिष्क के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद रहते हैं! गर्मी के दिनों में बादाम को रात में पानी में भिगोकर सुबह छिलका उतार कर खाना चाहिए। पढ़ने वाले बच्चों के लिए तो यह बहुत ही फ़ायदेमंद है।

ये भी पढ़े-

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे फेसबुक (Facebook) पेज – Khabar Nazar पर Like करना न भूले!

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply