नहाते समय कभी ना करे ये गलतिया, कही आप भी तो नही करते ये काम

हम रोज़मर्रा की जिंदगी में बहुत से काम रोज़ाना करते हैं। क्योंकि वो कार्य ऐसे होते हैं जिन्हें छोड़ा ही नही जा सकता हैं। उदाहरण के लिए, सुबह फ्रेश होना, नहाना, ब्रेकफास्ट करना इत्यादि। ये वो कार्य हैं जिन्हें हम रोज़ना पिछले कई सालों से करते आ रहे हैं। अगर कही भी हमे जाना होता हैं या न भी जाना हो लेकिन फिर भी हम नहाते जरूर हैं। नहाने से एक तो हमारा शरीर खुलता हैं दूसरा इससे हम बहुत सी बीमारियों से बचे रहते हैं। इसलिए नहाना बहुत ही जरूरी होता हैं।

लेकिन कोई आपको यह कहे कि आप ठीक तरीके से नहाते नही हो तो शायद आप नही मानोगे लेकिन 80% लोग ये गलतियां करते ही हैं जिसकी वजह से उन्हें अपने भविष्य में कई दिक़्क़तों का सामना करना पड़ता हैं। और ये बात सिर्फ़ लड़को के लिए नही बल्कि लड़कियों के लिए भी हैं। अगर ये गलतियां आप दोहराते रहे हैं तो आपको ये काफी भारी पड़ सकता हैं इससे शारीरिक रूप में कई परिवर्तन होते हैं। तो चलिए जानते हैं उन गलतियों के बारे मे :-

नहाने के बाद शरीर पोछने के लिए कभी भी किसी :-

नहाने के बाद शरीर पोछने के लिए कभी भी किसी का टॉवेल यानी तौलिया का इस्तेमाल न करे। इससे कई प्रकार के त्वचा रोग होते हैं, खाज, खुजली और दाद जैसी समस्याएं हो सकती है।

नहाते वक्त कभी भी बालों में नहाने का साबुन न :-

नहाते वक्त कभी भी बालों में नहाने का साबुन न लगाये क्योंकि उससे आपके बाल झड़ने लग सकते हैं क्योंकि साबुन में अलग प्रकार के केमिकल होते हैं जोकि बालों के लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं।

ये भी पढ़े –

हर हफ्ते हमे सिर्फ 2 या 3 बार ही शैम्पू का :-

हर हफ्ते हमे सिर्फ 2 या 3 बार ही शैम्पू का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि ज्यादा इस्तेमाल करने से बालों की जड़े कमजोर पड़ने लगती हैं।

पानी को ज्यादा गर्म करके नहाने से हमारी :-

पानी को ज्यादा गर्म करके नहाने से हमारी त्वचा पर प्रभाव पड़ता हैं इसलिए पानी नार्मल होना चाहिए। और पूर्वजों और पुराणों के अनुसार सूर्य उदय होने से पहले स्नान करना लाभदायक माना जाता है, ऐसा करने से आपका शरीर सदैव निरोग रहेगा।

जिम या दौड़ मारकर आने के बाद तुरंत कभी :-

जिम या दौड़ मारकर आने के बाद तुरंत कभी नही नहाना चाहिए। इससे बल्कि आपके शरीर पे दुष्प्रभाव पड़ता हैं। वर्कऑउट के आधे या एक घंटे बाद ही नहाना चाहिए।

नहाते समय भूल से भी शैम्पू डियो का इस्तेमाल :-

नहाते समय भूल से भी शैम्पू डियो का इस्तेमाल ना करे। इससे आपकी त्वचा पर कई दुष्प्रभाव पड़ते हैं। और आपकी त्वचा ड्राई भी पड़ जाती हैं।

ये भी पढ़े –

शैम्पू करने के बाद तुरंत ही कभी भी कंडीशनर :-

शैम्पू करने के बाद तुरंत ही कभी भी कंडीशनर या किसी हेयर जेल का इस्तेमाल नही करना चाहिए। ऐसा करने से बालों की जड़ो पर बहुत प्रभाव पड़ता हैं और वो कमजोर होने लगती हैं। आगे चलके शायद आप बाल्डनेस यानी गंजेपन के शिकार भी हो सकते हैं। अक्सर लोग नहाने के तुरंत बाद अपने बालो को तोलिये में लपेट लेते है, ऐसा नहीं करना चाहिए। इससे बाल कमजोर होते है और फिर टूटने लगते है। तो नहाने के बाद बालो को आराम से पोछना चाहिए, उन्हें लपेटना नहीं चाहिए।

रोज शैम्पू करने से :-

बालो को रोज शैम्पू नहीं करना चाहिए। जैसा की हम जानते है की शैम्पू केमिकल से बना हुआ होता है ये बालो को सॉफ्ट जरुर बनता है पर उन्हें कमजोर भी कर देता है। इसलिए रोज रोज शैम्पू नहीं करना चाहिए। रोज शैंपू करने से आपके बालों की जड़ें कमजोर हो जाती हैं।

नहाने के बाद लूफे को गिला न छोड़े :-

अक्सर लोग नहाने के बाद लूफे को गीला छोड़ देते हैं जिससे बैक्टिरियल इंफेक्शन होने के आसार बढ़ जाते हैं क्युकी गीले लूफे में बैक्टिरिया आसानी से पैदा हो जाते हैं इसलिए कभी भी बालो को गिला न छोड़े। हमेशा नरम तोलिये से बालो को पोंछना चाहिए।

कंडीशनर का जयादा इस्तेमाल न करे :-

बालों को कंडीशनर करना ठीक है। लेकिन कंडीशनर का यूज ज्यादा न करे। और बालों के सिरों पर ही कंडीशनर लगाएं क्यूंकि बालो की जड़ों पर कंडीशनर लगाने पर बाल कमजोर हो जाते हैं। और बाल टूटने लगते है।

विटामिनो से भरपूर डाइट लेनी चाहिए :-

अपने शरिरिक सम्पूर्ण विकास के लिए हमे फल हरी सब्जिया आदि का सेवन जरुर करना चाहिए। एक भरपूर डाइट स्वस्थ शारीर की मांग है। बालो के ग्रोथ के लिए विटामिन A विटामिन आदि अत्यंत जरुरी है जो हमे एक अच्छी डाइट से ही मिल सकते है।

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे फेसबुक (Facebook) पेज – Khabar Nazar पर Like ज़रूर करें!

बिना कोई दुष्प्रभाव के साथ सुरक्षित आयुर्वेदिक धातु रोग, मर्दाना कमजोरी, देर तक नहीं टिकना 1 मिंट में निकल जाने की समस्या, शुक्राणु के पतलेपन की आयुर्वेदिक उपचार डॉ नुस्खे हॉर्स पावर किट ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें https://waapp.me/wa/LYyy6LN3 Whats_app 7455-896433 करें!

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply