fbpx

गर्मियों में ऐसे पाए मुल्तानी मिट्टी से कोमल और सुन्दर त्वचा

मुल्तानी मिट्टी को फुलर अर्थ भी कहा जाता है। यह काफी पुराने समय से सबके सौंदर्य को निखारने में मददगार होता हैं। इसका इस्तेमाल भारतीय महिलाएं काफी लंबे समय से करती आ रही हैं। मुल्तानी मिट्टी के इस्तेमाल से आपकी त्वचा में मौजूद एक्ट्रा ऑयल, गंदगी को दूर कर सकती हैं।

मुल्तानी मिट्टी के इस्तेमाल से आप अपने सौंदर्य को भी निखार सकती हैं और हेल्दी त्वचा और बाल पा सकती हैं। आइए आपको मुल्तानी मिट्टी के कुछ लाभ के बारे में बताते हैं जिससे आपकी त्वचा और बाल दोनों काफी स्वस्थ हो जाएंगे।

मुल्तानी मिट्टी के लाभ-

  • अतिरिक्त सेबम और ऑयल से छुटकारा
  • पिंपल्स और मुँहासे से निजात
  • अंदर से त्वचा को शुद्ध करता हैं और जमी गंदगी और पसीने को हटाता है।
  • टेनिंग और पिगमेंटेशन को साफ करता हैं।
  • त्वचा की रंगत बढ़ाता है और स्किन टोन को चमकाने में मदद करता हैं।
  • स्किन रेशेज और संक्रमण से छुटकारा
  • सूजन या किसी कीड़े के काटे को शांत करता है।
  • ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है ताकि त्वचा साफ और सुंदर हो पाए।
  • ब्लैकहेड्स, व्हाइटहेड्स, मुंहासे और उनके निशानों को साफ करता हैं।

1. शुष्क त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे

सामग्री :

  • एक चम्मच मुल्तानी
  • एक चम्मच शहद
  • तीन से चार अंगूर के दाने (वैकल्पिक)

बनाने और लगाने का तरीका :

  • अंगूर को मसल लें और एक कटोरी में मुल्तानी मिट्टी व शहद के साथ मिक्स कर लें।
  • ध्यान रहे फेस पैक बनाने के लिए जितनी जरूरत हो उतना ही शहद मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं।
  • इसे 20 मिनट के लिए या जब तक सूखे न, तब तक चेहरे पर लगा रहने दें।
  • सूखने के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें।
  • फिर मॉइस्चराइजर लगा लें।

कब लगाएं?

आप हफ्ते में एक बार इसे लगा सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

मुल्तानी मिट्टी के इस फेस पैक में शहद भी है, जो आपकी त्वचा को नमी देगा। यह त्वचा को मॉइस्चराइज करता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण त्वचा की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। यह हुमेक्टैंट का काम करता है यानी आपकी त्वचा में मॉइस्चर को लॉक करता है।

वहीं, अंगूर में एंटी-एजिंग गुण होते हैं जो वक्त से पहले त्वचा पर झुर्रियों को होने से रोकते हैं। ऐसे में मुल्तानी मिट्टी का यह फेस पैक शुष्क त्वचा की समस्या से काफी हद तक निजात दिला सकता है।

2. कील-मुंहासों के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे

सामग्री

  • दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • आधा या एक चम्मच हल्दी पाउडर
  • दो चम्मच शहद

बनाने और लगाने का तरीका :

  • सभी सामग्रियों को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • पहले अपने चेहरे को किसी क्लींजर से साफ कर लें।
  • अब इस फेस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं।
  • इसे 15 से 20 मिनट या जब तक ये सूखे न, तब तक लगा रहने दें।
  • फिर गुनगुने या ठंडे पानी से चेहरा धो लें।

कब लगाएं?

हफ्ते में दो से तीन बार लगाएं।

कैसे फायदेमंद है?

तैलीय त्वचा के कारण कील-मुंहासे हो जाते हैं। ऐसे में मुल्तानी मिट्टी में त्वचा के तेल को सोखने के गुण होते हैं और इससे कील-मुंहासे पर काफी असर पड़ सकता है। इससे आपकी त्वचा की गंदगी तो बाहर निकलती ही है, साथ ही मुंहासों के फिर से होने की आशंका कम हो जाती है।

वहीं, हल्दी में मौजूद एंटीसेप्टिक, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण त्वचा के लिए फायदेमंद। हल्दी मुंहासों के अलावा कई अन्य त्वचा संबंधी समस्याओं से भी राहत दिलाती है।

3. त्वचा के एक्सफोलिएशन के लिए मुल्तानी मिट्टी के लाभ

सामग्री :

  • एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • एक चम्मच गुलाब जल

बनाने और लगाने का तरीका :

  • पहले अपने चेहरे को साफ कर लें।
  • फिर मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर हल्के-हल्के हाथों से मालिश करें।
  • कुछ देर के लिए इसे लगा रहने दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें।

ये भी पढ़े-

कब लगाएं?

हफ्ते में दो से तीन बार उपयोग करें।

कैसे फायदेमंद है?

मुल्तानी मिट्टी अपने बेहतरीन एक्सफोलिएटिंग गुणों के लिए जानी जाती है। यह आपकी त्वचा के मृत कोशिकाओं को बहुत ही कोमलता से हटाकर रोम छिद्रों को खोलती है।

इससे त्वचा पर होने वाले मुंहासों से बचा जा सकता है।

4. दाग-धब्बों के लिए मुल्तानी मिट्टी के लाभ

सामग्री :

  • एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • दो चम्मच आलू का रस

बनाने और लगाने का तरीका :

  • अपने चेहरे को किसी क्लींजर या पानी से साफ करें।
  • फिर मुल्तानी मिट्टी और आलू के रस को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • इस पेस्ट को अपने चेहरे खासकर दाग-धब्बों पर लगाएं।
  • इसे 15 मिनट के लिए या जब तक ये सूखे न चेहरे पर लगा रहने दें।
  • जब सूख जाए तो गुनगुने पानी से धो लें।

कब लगाएं?

आप हफ्ते में एक से दो बार इसे लगा सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

मुल्तानी मिट्टी न केवल मुंहासों से छुटकारा दिलाती है, बल्कि दाग-धब्बों पर भी असर करती है। यह त्वचा को नमी देने के साथ-साथ साफ भी करती है।

सिर्फ मुल्तानी मिट्टी ही नहीं, बल्कि इस फेस पैक में इस्तेमाल किया गया आलू का रस भी दाग-धब्बों को साफ कर त्वचा में निखार लाता है।

5. त्वचा को साफ करने के लिए मुल्तानी मिट्टी

सामग्री :

  • एक कप दलिया
  • एक कप नीम पाउडर
  • एक चौथाई कप सफेद चंदन
  • एक चम्मच हल्दी पाउडर
  • एक चम्मच बेसन
  • एक कप मुल्तानी मिट्टी

बनाने और लगाने का तरीका :

  • सारी सामग्रियों को मिलाकर एक पाउडर तैयार कर लें।
  • फिर इसे एक शीशे के एयर टाइट जार में रख लें।
  • साबुन के बदले आप इस पाउडर का उपयोग करें।
  • अपने शरीर व चेहरे पर इस स्क्रब से हल्की-हल्की मालिश करें और फिर गुनगुने पानी से धो लें।

कब लगाएं?

आप हर रोज या हर दूसरे दिन इसे लगा सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

मुल्तानी मिट्टी को क्लींजर के रूप में उपयोग किया जा सकता है। यह न सिर्फ त्वचा से गंदगी को निकालती है, बल्कि त्वचा को एक्सफोलिएट कर रंगत को भी निखारती है। इसमें मौजूद नीम त्वचा की समस्याओं से निजात दिला सकती है।

वहीं, हल्दी एंटीसेप्टिक, एंटीऑक्सीडेंट व एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होती है। यह मुंहासों के साथ-साथ त्वचा संबंधी अन्य समस्याओं से भी राहत दिला सकती है।

6. सनटैन के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे

सामग्री :

  • एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • एक चम्मच नारियल पानी (सामग्री की मात्रा आप जरूरत अनुसार ले सकते हैं)
  • एक चम्मच चीनी

बनाने और लगाने का तरीका :

  • मुल्तानी मिट्टी को नारियल पानी और चीनी के साथ मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को सनटैन वाली जगहों पर लगाएं।
  • फिर थोड़े देर बाद गुनगुने पानी से धो दें।

कब लगाएं?

अच्छे परिणाम के लिए इसे हफ्ते में दो बार लगाएं।

कैसे फायदेमंद है?

मुल्तानी मिट्टी और नारियल पानी दोनों की तासीर ठंडी होती है। तपती धूप में नारियल पानी आपके शरीर को अंदर से ठंडा कर देता है।

वहीं, जब आप इसको अपनी त्वचा पर लगाते हैं, तो यह आपकी त्वचा को भी आराम दिलाता है। यह फेस पैक आपकी त्वचा को सनटैन से होने वाली जलन, रैशेज या खुजली से राहत दिला सकता है।

ये भी पढ़े-

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे Sandhya Gujral पर Like ज़रूर करें!

आर्डर करने के लिए लिंक पर जायें – http://whatslink.co/weightloss

Weight Loose Kit – बिना जिम, भागदौड़ और डाइटिंग योग के वजन कैसे घटाया जाए जो वापस न बढे, इसकी जानकारी चाहिए!
घर बैठे कूरियर से भारत में कहीं भी किट पाने के लिए इस लिंक पर क्लिक कीजिये – http://whatslink.co/weightloss

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply