खून की कमी में किन चीजों का सेवन नही करना चाहिए,जाने लक्षण और बचाव

मिनरल्स, विटामिन, प्रोटीन जैसे पोषक तत्व शरीर को स्वस्थ बनाएं रखते हैं। इनकी कमी होने से व्यक्ति को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। वैसे ही आयरन भी शरीर के लिए बेहद जरूरी है। आयरन शरीर को स्वस्थ रखने, लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने और मांसपेशियो को प्रोटीन पहुंचाने का काम करता है। शरीर में इसकी मात्रा कम होने पर खून की कमी होने लगती है। इसके कारण किडनी, कैंसर, कुपोषण, विटामिन बी, एनीमिया जैसी कई समस्याएं होती हैं।। आयरन की कमी अधिकतर महिलाओं में देखने को मिलती है।

पौष्टिक आहार न लेने से या किसी बीमारी के कारण आयरन की कमी बढ़ने लगती है। इसकी कमी से बचने के लिए अपनी डाइट में आयरन युक्त आहारों को शामिल करना चाहिएं। आज हम आपको आयरन के कमी के लक्षण और उसकी कमी होने पर कौन से आहार का सेवन करें इसके बारे में बताएंगे। तो चलिए जानते है उन लक्षणों के बारें में

खून की कमी के कारण-

  • पेट में इंफेक्शन के कारण
  • भोजन में पोषक तत्वों की कमी होना
  • किसी चोट के कारण
  • पोषक तत्वों की कमी
  • आयरन की कमी
  • विटामिन बी-12 की कमी
  • स्मोकिंग या शराब का सेवन
  • एजिंग या ब्लीडिंग की समस्या
  • शरीर में अधिक खून निकलने के कारण
  • किसी गंभीर रोग के कारण खून की कमी होना

आयरन की कमी के लक्षण

शुरूआत में आयरन की कमी के बहुत ही मामूली लक्षण होते हैं कि शायद आप उन्हें पहचान भी न पाएं। पर जैसे ही शरीर में आयरन की कमी बढ़ने लगती है और एनीमिया गंभीर होने लगता है तो लक्षण तीव्र होने लगते हैं।

आयरन की कमी के कारण होने वाले लक्षण व संकेतों में निम्न शामिल हैं:

  • जीभ में सूजन, लालिमा, जलन या दर्द महसूस होना
  • नाखून कमजोर हो जाना
  • ठीक से भूख ना लगना, खासकर शिशुओं और बच्चों में।
  • असामान्य रूप से गैर-पोषण पदार्थों को खाने की तीव्र ईच्छा होना जैसे बर्फ या मिटटी।
  • हाथ व पैर ठंडे होना।
  • सिर दर्द होना या लगातार चक्कर आना।
  • अत्याधिक थकान महसूस होना।
  • त्वचा पीली पड़ना।
  • छाती में दर्द, दिल की धड़कन तेज होना या सांस फूलना।

आयरन की कमी को पूरा करने के अनेक तरीके है जानिए वो कौन कौन से है

टमाटर का रस-

जिन लोगों को एनीमिया की शिकायत है उन्हें एक गिलास टमाटर का रस पिलाया जाए तो इससे ब्लड लॉस की प्रॉब्लम खत्म होती है। आदिवासियों की मान्यता के अनुसार जिस घर में ज्यादा टमाटर का उपयोग होता है, वहां एनीमिया की शिकायत कभी देखने को नहीं मिलती।

पालक का रस-

जिन्हें एनीमिया की शिकायत हो उन्हें प्रतिदिन पालक का रस (लगभग एक गिलास) दिन में 3 बार लेना चाहिए। पालक में विटामिन `ए’ `बी´ `सी´ और `ई´ के अलावा प्रोटीन, सोडियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, क्लोरीन, थायामिन, फाइबर, रिबोफ्लेविन और आयरन पाया जाता है, जो ब्लड को बढ़ाता है साथ ही उसे प्यूरीफाई भी करता है।

ये भी पढ़े-

मक्के-

मक्के के नर्म हरे भुट्टे स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिक भी होते हैं। मक्के के दाने उबालकर खाने से पेट से जुड़ी कई प्रकार की समस्याएं खत्म हो होती हैं साथ ही ये शरीर में ब्लड की कमी भी नहीं होते देता।

नमक और लहसुन-

नमक और लहसुन का सीधा सेवन ब्लड को प्यूरीफाई करता है। ब्लड प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए नमक और लहसुन का सेवन फायदेमंद होता है। खाने के साथ लहसुन की कच्ची कलियां और नमक लें, इससे जल्द असर दिखता है।

चुकंदर का रस-

1 गिलास चुकंदर के जूस में 1 चम्मच शहद मिक्स करके रोजाना पीएं। इससे शरीर को आयरन मिलता है और शरीर में आयरन की कमी पूरी हो जाती है। इसके अलावा गुड़ के साथ मूंगफली को मिलाकर खाने से भी शरीर में आयरन को मिलता है।

एनीमिया के रोगी को अनंतमूल, दालचीनी और सौंफ की समान मात्रा चाय में उबालकर दिन में कम- से- कम एक बार पीनी चाहिए, तो ब्लड प्यूरीफाई भी होता है। साथ ही उसके बनने की प्रक्रिया में भी तेज़ी आती है।

डांग- गुजरात के आदिवासी हर्बल जानकार मानते हैं कि जामुन और आंवले के फलों का रस समान मात्रा में मिलाकर पीने से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ता है और एनीमिया की समस्या से छुटकारा मिलता है।

सिंघाड़ा-

बॉडी को एनर्जी देने के साथ-साथ खून भी बढ़ाता है। सिंघाड़े में प्रोटीन, वसा(फैट), कार्बोहाईड्रेट, फॉस्फोरस, आयरन, मिनरल्स, विटामिन `ए´ स्टार्च और मैंगनीज़ जैसे महत्वपूर्ण तत्व पाए जाते हैं। कच्चे सिंघाड़े का सेवन करने से इसका असर जल्द पता चलता है।

फालसे के फल-

आदिवासियों के अनुसार खून की कमी होने पर फालसे के पके फल खाने चाहिए। इससे खून बढ़ता है। शरीर में खून की कमी से अक्सर त्वचा में जलन की भी शिकायत होती है। ऐसे में फालसे के फल या शर्बत को सुबह-शाम लेने से जल्द आराम मिलता है।

शरपुंखा की पत्तियों-

शरपुंखा की पत्तियों और फलियों से तैयार लगभग 20 मि.ली. रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट पीने से खून साफ होता है और ब्लड भी बनता है।

और अगर बचना है आयरन की कमी से, तो भूलकर भी न खाएं ये चीजें :-

हमारा शरीर के लिए आयरन बहुत ही जरुरी है। आयरन खून में हीमोग्लोबिन का सबसे महत्वपूर्ण घटक होता है, क्योंकि यह पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है। शरीर के हर कोशिका को ऊर्जा के लिए सबसे ज्यादा जरुरत ऑक्सीजन की होती है।

जब ऑक्सीजन फेफड़ों से होकर खून में जाता है तब आयरन लाल रक्त कोशिकाओं को ऑक्सीजन को सोखने में मदद करता है और फिर पूरे शरीर में फैलाने में सहायता करता है। जब शरीर में आयरन पर्याप्त मात्रा में होता है तब शरीर की हर कोशिका पूरी तरह से ऊर्जा से भरी हुई होती है।

अगर आपके शरीर में आयरन की कमी हो गई तो आपको एनीमिया, थकान, सांस संबंधी समस्या के अलावा और कई खतरनाक बीमारियां हो सकती है। साथ ही इससे आपकी रोग प्रतिरक्षा भी कम हो जाती है।

जिससे कारण आप बहुत जल्द बीमार हो जाते है। माना जाता है कि आपके खानपान से भी इसमें अधिक प्रभाव पडता है, क्योंकि कुछ खाद्य पदार्थों से आयरन को अवशोषित करने की प्रक्रिया में बाधा आ सकती है?

बिना कोई दुष्प्रभाव के साथ सुरक्षित आयुर्वेदिक धातु रोग, मर्दाना कमजोरी, देर तक नहीं टिकना 1 मिंट में निकल जाने की समस्या, शुक्राणु के पतलेपन की आयुर्वेदिक उपचार डॉ नुस्खे हॉर्स पावर किट ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें https://waapp.me/wa/LYyy6LN3 Whats_app 7455-896433 करें!

अगर आपके शरीर में आयरन की कमी है तो बूलकर भी इन चीजों का सेवन न करें , क्योंकि ये आयरन की कमी को पूरा होने में बाधा उत्पन्न करता है। जानिए इन चीजों के बारें में।

इसमें कोको होता है जो कि आयरन के अवशोषण को 70 प्रतिशत तक बाधित कर सकता है। एनीमिया से बचने के लिए ये कम खाएं।

ये भी पढ़े-

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे Sandhya Gujral पर Like ज़रूर करें!

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply