fbpx

केले से ज्यादा कीमती है उसका छिलका फायदे जान हैरान हो जायेगे आप

अक्सर लोग केला खाकर उसका छिलका फेंक देते हैं। लेकिन जब उन्हें पता चलेगा कि केले की तरह इस का छिलका भी कई गुणों से भरपूर है, तो शायद वे ऐसा न करें। जी हां, जिस तरह केला हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है, वहीं इस के छिलके के भी कई चमत्कारिक लाभ हैं।

केले के छिलके में पोषक तत्वों और कार्ब अच्छी मात्रा में होते हैं। इतना ही नहीं इसमें विटामिन ए, बी-6, विटामिन बी-12, मैग्रीशियम, पोटेशियम, मैग्नीज होता है, जो मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसमें फाइबर भी अच्छी मात्रा में होता है, जो शरीर के कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित कर वजन कम करने में सहायक है।

इतना ही नहीं केले के छिलके में एंटी फंगल और एंटीबायोटिक गुण होते हैं। यह आपकी त्वचा, बालों, दातों के लिए बेहद अच्छे हैं। इसके अलावा इस के छिलके के कई उपयोग हैं। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताते हैं कि इस का छिलका किस तरह से आपके लिए फायदेमंद है और इसका उपयोग किस-किस तरह से किया जा सकता है।

केले के छिलके के फायदे –

केले के छिलके की सब्जी के फायदे मूड बूस्टर में –

केले का छिलका आपके मूड को बूस्ट करने में बहुत मदद करता है। दरअसल, इस के छिलके में ट्रिप्टोफैन नामक एक विशेष पदार्थ होता है। ट्रिप्टोफैन एक आवश्यक अमीनो एसिड है जो सैराटोनिन एक ब्रेन हार्मोन के उत्पादन के लिए बहुत जरूरी है, जो मूड बूस्टर के रूप में काम करता है।

केले में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण लाभकारी –

केले के छिलके में पॉलीफेनल्स और कैरोटेनाइड्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। एंटी ऑक्सीडेंट होने के साथ फाइटोकेमिकल भी है। अध्ययनों में पाया गया है कि इस के छिलके में पके इस के छिलके की तुलना में ज्यादा एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं। यही वजह है कि कई देशों में इस के छिलकों का प्रयोग स्नैक्स और व्यंजन बनाने में किया जाता है।

केले का छिलका करें आंखों का इलाज –

केले के छिलके में पाया जाने वाला एक और एंटी ऑक्सीडेंट ल्यूटिन है जो ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने के साथ विभिन्न अंगों में फ्री रेडिकल्स से होने वाले डैमेज को बेअसर करने के लिए जाना जाता है। ल्यूटिन आंखों को पोषणदेता है। ये न केवल मैक्यूलर डीजनरेशन बल्कि मोतियाबिंद के जोखिमों को कम करता है। इतना ही नहीं ये हमारी आंखों को हानिकारक यूवी रेज से भी बचाता है। शरीर को हर दिन 6 मिग्रा से 10 मिग्रा ल्यूटिन की आवश्यकता होती है जो आपको हरी सब्जियां, पालक और फलों से प्राप्त होगा।

केले के छिलके के फायदे इलेक्ट्रोलाइट्स प्रदान करता है –

आमतौर पर मांसपेशियों में ऐंठन को रोकने के लिए, केला बहुत फायदेमंद है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस के भीतर पोटेशियम या इलेक्ट्रोलाइट्स मांसपेशियों के निर्माण, कार्बोहाइड्रेट के चयापचय और पूरे शरीर के माध्यम से एसिड-बेस बैलेंस के नियमन में सक्रिय भूमिका निभाता है। इस के छिलके भी पोटेशियम से भरे होते हैं और इसी तरह से काम कर सकते हैं।

कैंसर से बचाए केले का छिलका –

केले के छिलके में सक्रिय एंटीकार्सिनोजेनिक पदार्थ होते हैं, जो कैंसर से बचने में सहायता करते हैं। इसके अलावा, छिलके में क्रायोप्रोटेक्टिव एजेंट और एंटीमुटाजेनिक एजेंट भी होते हैं जो कैंसर होने के जोखिम को कम करता है। साथ ही, इस के छिलके में कैरोटिनॉइड और पॉलीफेनॉल्स भी भरपूर होते हैं, ठीक उसी तरह जैसे ग्रीन टी में पाए जाते हैं, जो आपकी स्वस्थ और कार्यात्मक प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने में मदद करते हैं।

कीड़े के काट लेने पर-

अक्सर बच्चों के खेलने के दौरना उन्हें कभी न कभी कुछ न कुछ काट ही लेता है कई बार छोटे मोट कीड़े के काट लेने पर उन्हें लाल धब्बे जैसे होने लगते है जिसके कारण उनके शरीर पर खुजली और रेशेज जैसा समस्या का सामना करना पड़ता है ऐसे में आपको तुरंत ही इस के छिलके को हल्के हाथों से प्रभावित वाली जगहों पर लगाना है और हल्के हाथों से मलना चाहिए आप खुद ही थोड़ी देर में फर्क देखेंगे

झुर्रियों के लिए उपयोगी केले का छिलका –

आपके चेहरे पर झुर्रियां तब होती हैं, जब त्वचा लोच खो देती है। उम्र बढ़ने के कारण यह स्वभाविक है, लेकिन कभी-कभी जीवशैली की आदतों के चलते समय से पहले चेहरे पर झुर्रियां आ जाती हैं। इस का छिलका आपकी त्वचा को प्राकृतिक रूप से मॉइस्चराइज करता है और एक बेहतर एंटी एजिंग के रूप में काम करता है।

कैसे इस्तेमाल करें- झुर्रियों को कम करने के लिए सबसे पहले केले का छिलका लें और उसे ब्लेंडर में मैश करें। अब इसमें अंडे की जर्दी मिलाएं और अपने चेहरे पर लगाएं और 5 मिनट के बाद धो लें। आप सप्ताह में दो बार इस दिनचर्या का पालन कर सकते हैं और चिकनी, मजबूत त्वचा का आनंद ले सकते हैं। इस का छिलका आपकी आंखों के नीचे की झुर्रियों के लिए उपयोग करने के लिए सुरक्षित है।

दांतो को सफेद बनाने के लिए-

अगर आपके दांत अपनी असली चमक खो चुके और उजले से पीले होने के कगार पर है तो आप परेशान न हो आप तुंरत इस के छिलके का प्रयोग करें ये उपाय आपके दांतो के लिए बहुत कारगर साबित होगे और दांतो में इस के छिलके को अच्छे से रगड़े और ऐसा करीब दो बार ऐसा जरुर करें ऐसा करने से आपको फर्क खुद ही नजर आने लगेगा.

केले का छिलका त्वचा के निशान को करे कम –

अगर आपकी त्वचा पर किसी प्रकार का निशान है तो केले के छिलके का इस्तेमाल करें। इस के छिलके में एस्टरआइफाइड फैटी एसिड होते हैं जो त्वचा पर बदसूरत दिखने वाले निशानों को कम करते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल- त्वचा के निशानों को कम करने के लिए केले के छिलके के भीतर के भाग को निशान वाले हिस्से पर रगडें। एक या दो घंटे के लिए इसे रगड़ें। चाहें तो रातभर भी ऐसा ही छोड़ सकते हैं। सुबह उठकर इसे पानी से धो लें। त्वचा के निशानों को कम करने के लिए हर रोज इस प्रक्रिया को करने से निशान गायब हो जाएंगे।

ये भी पढ़े-

केले के छिलके का इस्तेमाल मस्सों के लिए –

शरीर के किसी भी अंग पर कभी भी मस्से उग जाते हैं, जिसे दूर करने के लिए लोग अलग-अलग उपाय अपनाते हैं। लेकिन एक बार मस्सों को झाडऩे के लिए केले का छिलका इस्तेमाल करके जरूर देखें।

कैसे करें इस्तेमाल- मस्सों से छुटकारा पाने के लिए केले के छिलके का इस्तेमाल बहुत अच्छा उपाय है। इसके लिए ताजा इस के छिलके को पीस लें और इसमें अंडे की जर्दी मिला लें। अच्छे से मिलाने के बाद आपको एक स्मूथ पेस्ट मिल जाएगा, जिसे आप अपने मस्सों वाली जगह पर लगा लें। रोज ऐसा करने से आपके मस्से झड़ जाएंगे, बढ़ना भी बंद हो जाएंगे, कुछ दिन बाद आप देखेंगे कि ये पूरी तरह से गायब हो जाएंगे। इस का छिलका नए मस्सों को बढ़ने से भी रोकता है।

शरीर के किसी भी अंग पर कभी भी मस्से उग जाते हैं, जिसे दूर करने के लिए लोग अलग-अलग उपाय अपनाते हैं। लेकिन एक बार मस्सों को झाडऩे के लिए इस का छिलका इस्तेमाल करके जरूर देखें।

केले के छिलके के अन्य उपयोग-

वैसे तो आपने अब तक केले के कई फायदों के बारे में सुना होगा, लेकिन हम आपको बता दें कि इस की ही तरह इस का छिलका भी उतना ही फायदेमंद होता है। नीचे हम आपको इस के छिलकों के कई उपयोग के बारे में बता रहे हैं।

जलन कम करे केले के छिलके-

किसी कीड़े के काटने पर उस जगह पर जलन हो तो उस जगह पर केले के छिलके को रगड़ लें। रगड़ने से जलन चुटकियों में दूर हो जाती है।

पॉलिश के काम आए केले का छिलका-

अगर कभी आपके पास जूते साफ करने के लिए पॉलिश न हो, तो चिंता न करे। घर में रखे इस का छिलका निकालकर जूतों की बढिया सी पॉलिश कर लें। जी हां, आपको आश्चर्य हो रहा होगा, लेकिन इस के छिलकों का जूते की पॉलिश के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है।

सिर का दर्द दूर करे छिलका-

आपको कभी सिर दर्द हो तो दवा लेने के बजाय केले के छिलके का इस्तेमाल करें। जी हां, इस के छिलका सिर दर्द को दूर करने में बेहद असरदार साबित होता है। अक्सर सिर का दर्द खून की धमनियों के उत्पन्न होने वाले तनाव के कारण होता है। इसके लिए इस के छिलके को पीसकर उसका पेस्ट बनाएं। 15 मिनट तक इस पेस्ट को सिर पर लगाने से इसमें मौजूद मैग्नीशियम रक्त की धमनियों में जाकर सिर के दर्द को रोकने में सहायक होती हैं।

त्वचा के लिए अच्छे हैं छिलके-

कई बार आपने देखा होगा कि बर्तन या कपड़े साफ करने के दौरान उंगलियों के आसपास की त्वचा निकल जाती है। ऐसी स्थिति में इस का छिलका आपकी कटी त्वचा को सही करने में मदद करता है। इस के छिलके को उस स्थान पर थोड़ी देर के लिए लगा छोड़ दें। त्वचा बहुत जल्दी भर जाएगी।

छिलका दिलाए रैशेज से छुटकारा-

कई बार टाइट कपड़े पहनने से त्वचा पर रैशेज हो जाते हैं। इस समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए केले के छिलकों को उन रैशेज पर घिसें। इन्हें घिसने से रैशेज की समस्या बहुत जल्दी दूर हो जाएगी।

फर्नीचर चमकाए केले का छिलका –

केले का छिलका केवल आपके जूतों को ही नहीं बल्कि आपके लकड़ी के फर्नीचर और चांदी की वस्तुओं को भी पॉलिश करने में काम आता है। लेदर फर्नीचर को साफ करने के लिए पके इस के छिलके के अंदर के भाग को सीधे लेदर पर रगड़ें और फिर किसी भी सूती कपड़े से साफ करें। चांदी की वस्तुओं को साफ करने के लिए भी इस के छिलके को थोड़े गर्म पानी में मिला लें। अब इस पेस्ट को किसी भी चांदी के आइटम पर रगड़ें और एक सूती कपड़े से पोंछ लें। चीजें एकदम नई जैसी हो जाएगी।

छिलके की खाद को बगीचे में करें इस्तेमाल-

सस्ते, प्राकृतिक और प्रभावी तरीके से अपने बगीचे की मिट्टी या खाद को प्रभावशाली बनाने के लिए केले के छिलकों में मौजूद उच्च पोषण सामग्री का लाभ उठाया जा सकता है। इस का छिलका न केवल तेजी से डिकंपोज होता है बल्कि इसमें पोटेशियम और फॉस्फेट जैसे महत्वपूर्ण खनिज होते हैं जो स्वस्थ पौधों और फूलों की वृद्धि में मदद करते हैं। इस के छिलकों का प्रयोग खासतौर से गुलाब के पौधों की देखभाल के लिए किया जाता है।

केले का छिलके में कई गुण होते हैं, इसलिए इसका सेवन करना भी बहुत अच्छा माना जाता है। दुनिया में कई जगह हैं, जहां लोग इस के छिलकों को नियमित रूप से खाते हैं और इसके अलावा, कुछ संस्कृतियों में इस के छिलकों को तले हुए और उपचार के रूप में लिया जाता है। पूर्वी भारत में, छिलके का उपयोग बहुत सारे व्यंजन और कई मिठाइयाँ बनाने के लिए किया जाता है।

अब बात आती है कि इसका सेवन करें कैसे। इस के छिलके को खाने की कई अलग-अलग विधियां हैं। कुछ लोग इसे कच्चा खा लेते हैं, तो कुछ लोग इस के छिलके को 10 मिनट तक पानी में उबालकर इसका सेवन करते हैं। इस पोषक तत्व से भरपूर केले के छिलके की चाय का इस्तेमाल सूप, ग्रेवी, सॉस और चावल और अन्य व्यंजनों में भी किया जा सकता है। कई जगह तो इस के छिलके की स्वादिष्ट सब्जी भी बनाई जाती है।

अगर केले का छिलका पीला है तो आप इसे सीधे ऐसे ही खा सकते हैं। इसमें इस का स्वाद हरे छिलकों की तुलना में ज्यादा आता है। आप चाहें तो इस के छिलकों को पीसकर इसका शॉट भी बनाकर पी सकते हैं। इसमें बहुत पोषण होता है, इसलिए ये आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। आप केले के छिलके सहित पूरे इस के साथ एक शानदार स्मूदी भी तैयार कर सकते हैं।

इसे तैयार करने के लिए, आपको एक केला लेने की ज़रूरत है , एक से डेढ़ चम्मच दूध लें, डेढ़ चम्मच वेनिला और आधा कप बर्फ के टुकड़े लें। इन सभी को एक ब्लैंडर में ब्लैंड करें और एक गिलास में निकालकर पी जाएं। यह बहुत अच्छा लगता है और आपको आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ भी देता है।

ये भी पढ़ें : –

कैसे करे केले के छिलके का प्रयोग-

केले का छिलके में कई गुण होते हैं, इसलिए इसका सेवन करना भी बहुत अच्छा माना जाता है। दुनिया में कई जगह हैं, जहां लोग इस के छिलकों को नियमित रूप से खाते हैं और इसके अलावा, कुछ संस्कृतियों में इस के छिलकों को तले हुए और उपचार के रूप में लिया जाता है। पूर्वी भारत में, छिलके का उपयोग बहुत सारे व्यंजन और कई मिठाइयाँ बनाने के लिए किया जाता है।

अब बात आती है कि इसका सेवन करें कैसे। इस के छिलके को खाने की कई अलग-अलग विधियां हैं। कुछ लोग इसे कच्चा खा लेते हैं, तो कुछ लोग केले के छिलके को 10 मिनट तक पानी में उबालकर इसका सेवन करते हैं। इस पोषक तत्व से भरपूर इस के छिलके की चाय का इस्तेमाल सूप, ग्रेवी, सॉस और चावल और अन्य व्यंजनों में भी किया जा सकता है। कई जगह तो इस के छिलके की स्वादिष्ट सब्जी भी बनाई जाती है। अगर केले का छिलका पीला है तो आप इसे सीधे ऐसे ही खा सकते हैं। इसमें केले का स्वाद हरे छिलकों की तुलना में ज्यादा आता है।

आप चाहें तो इस के छिलकों को पीसकर इसका शॉट भी बनाकर पी सकते हैं। इसमें बहुत पोषण होता है, इसलिए ये आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। आप इस के छिलके सहित पूरे केले के साथ एक शानदार स्मूदी भी तैयार कर सकते हैं। इसे तैयार करने के लिए, आपको एक केला लेने की ज़रूरत है , एक से डेढ़ चम्मच दूध लें, डेढ़ चम्मच वेनिला और आधा कप बर्फ के टुकड़े लें। इन सभी को एक ब्लैंडर में ब्लैंड करें और एक गिलास में निकालकर पी जाएं। यह बहुत अच्छा लगता है और आपको आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ भी देता है।

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे फेसबुक (Facebook) पेज – Khabar Nazar पर Like ज़रूर करें!

सुखी और संतुष्ट वैवाहिक जीवन के लिए अपनी टाइमिंग बढ़ाएं,
घर बैठे पूरे भारत में 100% आयुर्वेदिक डॉ नुस्खे हॉर्स किट की गुप्त डिलीवरी पाएं!

इस लिंक पर क्लिक करके सुरक्षित आर्डर करें!
http://whatslink.co/Horsekit

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply