हाथ पैर सुन्न होने के कारण और कारागार उपाय

नमस्कार दोस्तों, आज मैं आपको हाथ पैरो को सुन्न होने का कारण और इलाज बताने जा रही हूँ.

लेकिन सबसे पहले आपसे गुज़ारिश है कि हमारे ऐसी ही बढ़िया बढ़िया जानकारी आगे भी आपको मिलती रहे, आप हमारे पेज Khabar Nazar को फेसबुक पर ज़रूर लाइक करें -> यहाँ क्लिक करें!

कभी-कभी हाथ या पैर के सुन्‍न होने पर स्‍पर्श संवेदना में कमी आ जाती है। इसके साथ ही सुन्‍न हाथ या पैर में झनझनाहट, जलन, तेज दर्द और कमजोरी भी महसूस होती है। यह बहुत ही आम समस्‍या है और हममें से लगभग सभी को कभी-कभी इसका अनुभव होता है।

लगातार हाथों और पैरों पर दबाव, तंत्रिका में चोट, ठंडी चीज को काफी देर तक छूना, बहुत अधिक शराब का सेवन, धूम्रपान, डायबिटीज, थकान, श्रम का अभाव, विटामिन बी या मैग्‍नीशियम जैसी पोषक तत्‍वों की कमी जैसे इस समस्‍या के कई कारण हो सकते हैं।

आमतौर पर यह समस्‍या कुछ ही मिनटों तक रहती है, लेकिन अगर हाथ या पैर पर सुन्‍नपन बार-बार या लंबी अवधि के लिए अनुभव हो तो तुरंत अपने चिकित्‍सक से सलाह लें। यह किसी बड़ी समस्‍या का संकेत हो सकता है। हाथ या पैर का सुन्‍न हो जाना बहुत ही कष्‍टदायक होता है। लेकिन घबराइए नहीं क्‍योंकि सरल घरेलू उपचार की मदद से इसका इलाज किया जा सकता है।

वैसे तो यह समस्या केवल कुछ ही मिनटों पर रहती है लेकिन कई बार इसकी अवधि कई घंटों तक की भी हो जाती है। अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ है तो आपको डॉक्टर के पास अवश्य जाना चाहिए। क्योंकि हो सकता है यह किसी बड़ी बिमारी का लक्षण हो।

अगर आपके हाथ-पैर भी अक्सर बैठे हुए या खड़े हुए सुन्न हो जाते हैं तो यहाँ हमारे पास कुछ उपाय हैं जिनकी मदद से हाथ-पैर के सुन्न होने की समस्या को दूर किया जा सकता है।

ये हैं कारण

  • बहुत देर तक एक ही स्थिति में बैठे रहने के कारण।
  • हाथों या पैरों पर प्रेशर
  • बहुत देर तक किसी ठंडी वस्तु को छूते रहना।
  • तंत्रिका में कोई चोट।
  • रक्त संचरण ठीक तरह से नहीं होना।
  • अत्यधिक शराब का सेवन।
  • थकान महसूस होना।
  • धूम्रपान करना।
  • आयरन की कमी के कारण।
  • मधुमेह होना।

ये भी पढ़े-

हाथ पैर सुन्न होने का उपाय-

हल्दी –

हल्दी में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करते है। इसके सेवन से शरीर की कमजोरी दूर होती है और दर्द में आराम मिलाता है। इसके लिए 1 ग्लास में 1 चम्मच हल्दी मिलाकर गैस पर धीमी आंच पर पकाएं। हल्का ठंडा होने के बाद इस दूध को पीएं। शरीर के सुन्न वाले हिस्से पर हल्दी और पानी का पेस्ट लगाने से भी झनझनाहट कम होती है।

विटामिन बी फ़ूड

अगर आपके हाथ पैरों में भी अक्सर झनझनाहट होती है तो आपको अपने आहार में विटामिन बी युक्त खाद्य पदार्थों को सम्मिलित करना चाहिए। इसके लिए आप अंडे, एवोकाडो, मीट, केला, बीन्स, मछली, ओटमील, दूध, दही, चीज़, मेवे और फल आदि का सेवन कर सकते हैं।

पैरों की मालिश-

जिन लोगों के पैर बार बार सो जाते है उन्हें पैरों की तलवों की गर्म तेल से मालिश करनी चाहिए। इससे झनझनाहट में आराम मिलेगा और ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होगा।

शराब का सेवन-

जिन लोगों को अधिक मात्रा में शराब पीने की आदत होती है, उनमें भी अंगों में सुन्नपन या झनझनाहट की समस्या होती है। हाथ व पैर सुन्न हो जाते हैं और कोशिकाओं में झनझनाहट सी होने लगती है।

लहसुन,जीरा, लौंग और इलायची का चूर्ण-

लहसुन, जीरा, लौंग, और इलायची को पिस कर चूर्ण तैयार कर के और सुबह शाम इस चूर्ण का सेवन करे आपको इस समस्या से निजात मिलेगा.

ये भी पढ़े-

दालचीनी –

दालचीनी में बहुत से तत्व होते हैं जो शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाते हैं। एक्सपर्ट्स की मानें तो रोजाना 1-2 चम्मच दालचीनी पाउडर का सेवन करने से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। इसके लिए 1 ग्लास गर्म पानी में 1 चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाएं और दिन में एक बार इसे पियें।

गर्म पानी का सेंक-

इस उपाय के लिए सर्वप्रथम सुन्न वाले हिस्से पर गर्म पानी का सेंक करें। इसे उस हिस्से का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होगा। ऐसा करने से मांसपेशियां और नसें रिलैक्स होंगी। आप चाहे तो साफ़ कपडे को गर्म पानी में डुबोकर उससे भी प्रभावित हिस्से की सिकाई कर सकते हैं।

घरेलू उपचार-

जिस अंग में समय-समय पर सुन्नपन या झनझनाहट होती है, वहां नियमित मालिश करना रक्त संचार को ठीक करता है। साथ ही उस हिस्से की मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं।

अगर सुन्नपन देर तक रहता है तो गुनगुने दूध में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पीना अच्छा आराम देता है। हल्दी रक्तसंचार ठीक करती है। एंटीबायोटिक गुणों से युक्त होने के साथ इसमें खून को पतला रखने का गुण भी होता है, जिससे तुरंत आराम मिलता है।

हल्की गर्म सिंकाई करने से भी आराम मिलता है। नियमित व्यायाम भी करना चाहिए।

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे फेसबुक (Facebook) पेज – Khabar Nazar पर Like करना न भूले.

बिना कोई दुष्प्रभाव के साथ सुरक्षित आयुर्वेदिक धातु रोग, मर्दाना कमजोरी, देर तक नहीं टिकना 1 मिंट में निकल जाने की समस्या, शुक्राणु के पतलेपन की आयुर्वेदिक उपचार डॉ नुस्खे हॉर्स पावर किट ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें https://waapp.me/wa/LYyy6LN3 Whats_app 7455-896433 करें!

Leave a Reply