गुलाब जल में यह 1 चीज़ मिलाकर लगा ले, आपकी त्वचा भी 20 साल जैसी जवां दिखेगी

आप हम आपको बतायगे कि गुलाब जल जिसका प्रयोग आपको पता है चेहरे के लिए करना है लेकिन कैसे करना है इसका प्रयोग आप नही जानते की यह चेहरे की त्वचा के लिए कितना फायदेमंद है.

मिश्रण का प्रयोग सर्दी व गर्मी में अधिक किया जाता है क्योकि सर्दी व गर्मी दो ऐसे मौसम है जब आपकी त्वचा या तो ऑयली या रुखी होती है.

आज हम आपको ग्लिसरीन  व   गुलाबजल के फायदों के बारे  विस्तार से बताते है.

गुलाबजल व ग्लिसरीन  दोनों को मिलकर रात के समय सोने से पहले लगा कर सोये हो सके तो 5 मिनट तक इसकी मसाज करे इस से त्वचा का रूखापन दूर हो जाता है और त्वचा में निखार आता है.

गुलाब जल और ग्लिसरीन  को  हफ्ते में 2 बार लगाने पर त्वचा में नई जान आ जाती है और जो भी आपकी त्वचा के अंदर मैल होता है वो भी रगड़ने पर बहार आ जाता है.

गुलाबजल और ग्लिसरीन को त्वचा पर रगड़ने पर त्वचा में रक्त का  संचार होता है और यह आपके चेहरे पर झुर्रिया पड़ने रोकता है.

त्वचा के रूखेपन व ढीलेपन को दूर करने में गुलाब जल और ग्लिसरीन  बहुत मदद करते है इस से चेहरे में निखर आटा है र दाग धब्बे दूर हो जाते है.

ग्लिसरीन  –

चेहरे की सुन्दरता को बढ़ाने में ग्लिसरीन बहुत ही जरुरी उत्पाद का काम करता है। यह चेहरे को नमी देता है हम आपको ग्लिसरीन के और बहुत से उपयोग बतायगे जिस की मदद से आप अपने चेहरे की सुन्दरता को और बढ़ा सकते है.

ग्लिसरीन  के फायदे –

टान्सिलाईटिस-

गरम पानी में ग्लिसरीन मिला कर गरारे करने से टान्सिलाईटिस  की समस्या से छुटकारा मिल जाता है.

जले हुए अंग-

जले हुए अंग पर ग्लिसरीन लगाने से जलन कम हो जाती है और छाले भी नही पड़ते है.

ये भी पढ़े –

रंगत-

एक चोथाई चम्मच ग्लिसरीन  निम्बू  गुलाबजल 1 पिसा हुआ बादाम 1 चम्मच दूध की मलाई को मिलाकर हाथ पर लगा कर रात को सो जाये इस से आपके हाथ नरम हो जाये साथ ही आपके हाथो की रंगत भी निखरती है.

नाखूनों की रंगत-

नाखूनों पर रात को ग्लिसरीन लगाने से नाखूनों की रंगत निखरती  है.

त्वचा फटने-

त्वचा फटने पर ग्लिसरीन लगाने  लाभ मिलता है.

थकावट-

थकावट होने पर ग्लिसरीन लगाने से लाभ मिलता है.

होठ फटने पर –

होठ फट जाने पर ग्लिसरीन  लगाने   से लाभ मिलता है ग्लिसरीन  को रोजाना 3 बार लगाने पर होठ मुलायम हो जाते है.

ये भी पढ़े –

टांसिल की सूजन-

गर्म पानी में ग्लिसरीन मिलाकर कुल्ला करने पर गले में आराम मिलता है ग्लिसरीन  को रुई के फोहे से लगाने पर टांसिल की सूजन कम हो जाती है.

टॉन्सिलाइटिस की गांठ-

गरम पानी में ग्लिसरीन डालकर इस से गरारे करने पर टॉन्सिलाइटिस की गांठ में आराम मिलता है.

कान के कीड़े-

कान में कीड़ा चले जाने पर रुई की एक लम्बी बत्ती बना कर कान में डालने पर धीरे धीरे घुमाने से कान के कीड़े बहार आ जाते है.

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे फेसबुक (Facebook) पेज – Khabar Nazar पर Like ज़रूर करें!

धातु रोग, मर्दाना कमजोरी, देर तक नहीं टिकना, 1 मिंट में निकल जाने की समस्या, शुक्राणु के पतलेपन की आयुर्वेदिक उपचार डॉ नुस्खे हॉर्स पावर किट ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें https://waapp.me/wa/tSQUZRpC या whats-app 742-885-8589 करें!

Leave a Reply