fbpx

गर्मियों में होने वाली पसीने की बदबू से हमेशा के लिए छुटकारा पाने के रामबाण उपाय

गर्मियों में पसीना आना एक सामान्य प्रक्रिया होती है और शरीर को ठंडा रखने के लिए यह जरुरी भी है। लेकिन जब यह अत्यधिक मात्रा में आने लगता है और इसके कारण शरीर में बदबू पैदा होने लगती है तो आपको काफी problem होती है।

पसीने की बदबू आपके लिए काफी परेशानी और शर्मनाक स्थिति पैदा कर सकती है। Strong और unpleasant पसीने की बदबू तब पैदा होती है जब sweat glands overactive हो जाती हैं। शरीर में बदबू पसीने के कारण नहीं होती बल्कि पसीना bacteria के साथ मिलकर बदबू पैदा करता है।

पसीने से बदबू आने लगे तो ये एक गंभीर समस्या बन जाती है। गर्मियों में पसीने के कारण और सर्दियों में हाईजीन में कमी के कारण पसीने में बदबू आना एक बहुत ही आम समस्या है। जिससे छुटकारा पाने के लिए लोग तरह-तरह के डियोड्रेंट का इस्तेमाल करते हैं| जिनसे पैसे के खर्च के अलावा साइड इफेक्ट भी सामने आते हैं।

कुछ घरेलू तरीकों को अपनाकर आप पसीने की दुर्गंध से आसानी से छुटकारा पा सकते हो।

पुदीने के पत्ते :-

जिस प्रकार आपने नीम की पत्तियों को उबालकर उसका पानी नहाने के पानी में मिलाकर प्रयोग किया था। उसी प्रकार आप पुदीने की पत्तियों का भी प्रयोग कर सकते हैं|  इससे आपकी ना सिर्फ पसीने की बदबू दूर होगी बल्कि आपका पुदीने की पत्तियों की महक सें आपका मूड भी अच्छा और तनावमुक्त रहेगा।

उबटन लगाएं :-

जिन लोगो को ज्यादा पसीना आता है या जिनके पसीने की बदबू बहुत तेज होती है उन लोगो को सप्ताह में कम से कम 2 बार नहाने से 10 मिनट पहले अपने शरीर पर बेसन और दही को मिलाकर उसका उबटन लगाना चाहिए। इस उबटन को लगाने से त्वचा साफ हो जाती है और और उसके बंद रोम छिद्र भी खुल जाते हैं। जिससे पसीना कम निकलता है और उसमें बदबू होती है ।

फिटकरी :-

पसीने में बदबू आने के मुख्य कारण कीटाणु अथवा बैक्टीरिया होते हैं और फिटकरी में कीटाणु को मारने के गुण होते हैं। एक बाल्टी पानी में केवल एक चुटकी फिटकरी का चूर्ण मिलाएं पानी से नहा लें इससे आपके पसीने में बदबू नहीं आएगी किंतु ध्यान रखें कि यदि आप ने अधिक फिटकरी प्रयोग की तो तवचा पर खुश्की हो सकती है।

पान के पत्ते और आँवला :-

पान के पत्ते और आंवला को बराबर मात्रा में पीस कर नहाने के पहले इसका पेस्ट लगाएं। इससे पसीना कम निकलता है और पसीने में बदबू भी नहीं होती है ।

गुलाब जल :-

पसीने की दुर्गन्ध को दूर करने के लिए अपने अंडरआर्म्स में रुई की मदद से गुलाब जल लगाएं इससे त्वचा साफ रहती है, जीवाणु भी पनप नही पाते है और पसीने से बदबू भी नहीं आती है ।

सिरका :-

सिरका जिसे इंग्लिश में वेनेगर कहते हैं। अपने कीटाणुओं को मारने के गुणों के कारण अचार को सुरक्षित रखने के लिए लंबे समय से प्रयोग किया जाता रहा है| पसीने की बदबू को दूर भगाने के लिए नहाने के पानी में एक चम्मच वेनेगर डालकर नहाने से कीटाणु मर जाते हैं। जिससे पसीने से बदबू नहीं आती है।

नीम की पत्तियां :-

नीम की पत्तियों को पानी में डालकर उबाल ले फिर इस पानी से स्नान कर ले| इससे आपके शरीर से पसीने की बदबू का नामोनिशान हट जाएगा, साथ इससे स्क्रीन में होने वाले इन्फेक्शन जैसे कि मुहासे आदि भी नहीं होंगे आप नीम के पानी से 1 दिन छोड़कर नहा सकते हैं।

नीबू :-

नीबू पसीने में बदबू के अलावा गर्मी और प्रदूषण के कारण अक्सर हमारे अंडरआर्म्स काले पड़ जाते हैं। जिससे छुटकारा पाने के लिए आप रुई की मदद से नींबू के रस को अपने अंडरआर्म्स में लगाएं या फिर नींबू को एक टुकड़े को उस पर रगड़े इससे आपको पसीने की बदबू और अंडर आर्म्स के कालेपन दोनों से छुटकारा मिल जाएगा

अपने को रखें साफ :-

गर्मियों में पसीने की बदबू से बचने का सबसे आसान तरीका है अपने आपको बिलकुल साफ-सुथरा रखना। पसीने की बदबू उन जीवाणुओं से होती जो आपकी त्वचा में रहते हैं, इसीलिए अपनी त्वचा को हमेशा साफ रखें। हमारे अंडरआर्म के बालो की वजह से जीवाणु ज्यादा पनपते है । हमारे शरीर से जो पसीना निकलता है उसे हमारे अंडरआर्म्स के बाल पूरी तरह से सोख लेते है इससे वहाँ पर बैक्टेरिया पनपने है और इसकी वजह से शरीर से बहुत बदबू आने लगती है, इससे बचने के लिए यह आवश्यक है की अंडरआर्म्स पर बाल समय समय पर साफ करते रहे ।

इन बातो का भी ध्यान रखे :-

पसीने की बदबू से दूर रहने के लिए इस बात का विशेष ध्यान दें कि आप बिना धुले हुए कपड़े न पहनें, गंदे कपड़ो में जीवाणु जल्दी पनपते है इससे ना केवल पसीना ही ज्यादा आता है वरन शरीर से बदबू भी आने लगती है।

सप्ताह में कम से कम एक बार एक टब / बाल्टी में गुनगुना पानी लेकर उसमें नींबू का रस मिला लें फिर अपने पैरों को उसमें कुछ देर के लिए डुबोकर रखें। इससे शरीर विशेषकर हमारे पैरों से आने वाली दुर्गध दूर होती है ।

संतुलित आहार लेने की आदत डालें । बहुत गर्म, मिर्च मसाले वाले और बहुत तले हुए खाद्य पदार्थों से दूर रहे । दिन में 10 – 12 गिलास पानी पीने की आदत डालें । ताजे मौसमी फल और सब्जियां अवश्य जी खाएं ।

अपना पेट अवश्य जी साफ रखें। कब्ज की वजह से हमारे शरीर में बहुत सी परेशानियाँ उत्पन्न हो जाती है, उससे भी पसीना / दुर्गन्ध युक्त पसीना अधिक आता है ।

बहुत ज्यादा लहसुन, प्याज जैसी गर्म, तीव्र गंध वाली चीजे खाने से बचें, इनकी वजह से भी हमें पसीना अधिक आता है और उसमें दुर्गन्ध भी त्रीव होती है ।

बहुत टाइट या तंग फिटिंग के कपड़े नहीं पहनने चाहिए । विशेषकर गर्मी के मौसम में कॉटन के कपड़े हमारे शरीर के लिए ज्यादा अनुकूल रहते हैं, उसमें हवा भी आती जाती है जिससे कीटाणु भी नहीं पनपते है, पसीना कम आता है और पसीने की दुर्गन्ध भी दूर रहती है।

ये भी पढ़े-

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे फेसबुक (Facebook) पेज – Khabar Nazar पर Like ज़रूर करें!

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply