fbpx

बाहर निकालिए (Detox) शरीर में भरी पड़ी गन्दगी को – खून साफ़ कीजिये

Detox Your Body and Blood शरीर में जमा गन्दगी ही बीमारियों का कारण बनती है. इसकी सफाई अन्दर और बाहर दोनों से ज़रूरी है. आज मैं आपको इसी के बारे में बता रही हूँ.

हमारा खाना पीना अब पहले के समय जैसा साफ़ सुथरा नहीं है. स्वाद के नाम पर हम न जाने क्या क्या खा लेते हैं. लेकिन यह शरीर में गन्दगी के रूप में जमा होता है. साथ ही खून भी साफ़ नहीं रहता है.

शरीर को बाहर से साफ़ करने के लिए तो हम नहा धो सकते हैं और सफाई के तरीके अपना सकते हैं. लेकिन अंदरूनी गन्दगी के लिए और खून में जमा गन्दगी को निकलने के लिए हमें खान पीने की चीज़ों का ही सहारा लेना पड़ता है.

क्यों जरूरी है डिटॉक्सिफिकेशन (Detox)

शरीर को तरोताजा रखने के लिए डिटॉक्सिफिकेशन करना बहुत जरूरी है। गलत-खान पान, धूम्रपान और शराब का सेवन शरीर में ऐसे टॉक्सिन को बढ़ा देता है, जोकि आगे चलकर अनिद्रा, तनाव, मुंहासे, आलस, वजन बढ़ना, डिप्रैशन, पाचन बिगड़ना और दिमागी कमजोरी कारण बनते है।

डिटॉक्सिफिकेशन शरीर से इन टॉक्सिन को बाहर निकालकर आपको इन बीमारियों से बचाता है। बॉडी को डिटॉक्स करते समय ऐसे आहारों का सेवन किया जाता हैं जो शरीर के अंदरूनी और बाहरी अंगों की सफाई करते हुए आपको नई एनर्जी देते हैं।

नींबू करे कमाल

फेस्टिव सीजन में खान पान का ध्यान नहीं रख पाते हैं। मिठाई, तला भुना सब खा जाते हैं, जरूरत से ज्यादा खा लेते हैं। इस से detox  आपको भारीपन और पेट फूला हुआ महसूस होगा।

इस से बचने के लिए नींबू खाएं, नींबू के अम्लीय तत्व इस समस्या से छुटकारा दिला सकते हैं। सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में नींबू डालकर पिएं। नींबू और शहद मिलाकर भी पी सकते हैं। इस से डाइजेशन सही होता है और बॉडी के सारे विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं।

हल्दी

शरीर को डिटॉक्स करने के लिए आप हल्दी का ड्रिंक बनाकर पी सकते हैं। इसे बनाने के लिए 1 कप पानी में थोड़ी-सी हल्दी डालकर उबालकर ठंडा कर लें। इसके बाद इसमें शहद और कुछ बूँदें नीबू के रस की डालकर पीएं।

जितना पानी पीएंगे उतना फायदा

ज्यादा खाने के बाद पेट फूलने की समस्या आम है। खास तौर पर फेस्टिव सीजन में तो ऐसा अक्सर होता है। इसलिए जितना detox ज्यादा पानी आप पिएंगे उतना अच्छा होगा।

पानी की मदद से बॉडी से एक्स्ट्रा चीनी और फैट्स को बाहर निकाल सकते हैं। इसका मतलब ये नहीं है कि आप एक दिन में 10 लीटर पानी पी लें। दिन में कम से कम 2 लीटर और ज्यादा से ज्यादा 4 लीटर पानी ही पिएं।

ये भी पढ़िए :

पालक से मिले फाइबर

त्योहारों के दौरान हम जो भी खाते हैं उसमें फैट की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। साथ ही उनमें फाइबर कम होता है। ऐसे में detox फेस्टिव सीजन में आपको फाइबर की जरूरत ज्यादा होती है।

इसकी कमी को पूरा करने के लिए पालक का सेवन करें। शरीर को जरूरी फाइबर नहीं मिलता है तो कब्ज की समस्या हो सकती है। पालक खाने से बॉडी को जरूरी फाइबर मिलेगा और पेट पूरी तरह से साफ हो जाएगा।

टमाटर रोके कैंसर का खतरा

टमाटर को हम आम सब्जी मान लेते हैं. लेकिन इसके गुणों से अंजान रहते हैं। टमाटर एक ऐसा सुपरफूड है जिसकी गुणवत्ता को detox  अक्सर कम आंका जाता है।

त्योहारों के दौरान हम फ्राइड फूड ज्यादा खा लेते हैं। इस से बॉडी के अंदर ट्रांसफैट पहुंच जाता है जिससे कैंसर का खतरा रहता है। टमाटर इसके प्रभाव को कम करता है।

क्योंकि टमाटर के अंदर लाइकोपीन होता है। तो टमाटर जितना खाएंगे खास तौर पर फ्राइड फूड के साथ उतना अच्छा रहेगा।

खीरा करे बॉडी की सफाई

खीरा को हम लोग सलाद के तौर पर खाते हैं. इसको ज्यादा महत्व नहीं दिया जाता है। लेकिन खीरा बहुत फायदेमंद होता है। detox खीरा खाने से बॉडी में यूरीन ज्यादा बनता है जिसका मतलब ये हुआ कि यूरीन के जरिए बॉडी के विषैले तत्व बाहर निकलते रहते हैं।

इसके अलावा बॉडी में पानी की मात्रा ज्यादा बढ़ जाने पर खीरा बॉडी से एक्सेस पानी निकालने में भी खीरा मददगार है।

सेब के गुण अनेक

An apple in a day doctor keeps away, ये कहावत हम बचपन से सुनते आ रहे हैं, लेकिन सेब की खासियत केवल इतनी नहीं है। फाइबर से भरपूर सेब खाने के बाद काफी देर तक आपको भूख नहीं लगती है। इसके अलावा ये बॉडी को साफ भी करता है।

आप चाहें तो सेब के टुकड़ों को काटकर पानी में डालकर रखें और फिर डीटॉक्स ड्रिंक के तौर पर इसका सेवन करें।

Sensual Massage bxp30763h

चुकंदर करे लीवर की सफाई

फेस्टिव सीजन में ज्यादा खा लिया तो चुकंदर को याद करिए, लिवर की सफाई के लिए चुकंदर बेहद महत्वपूर्ण है। खास तौर पर detox नशा करने के बाद के हालात को संभालने में चुकंदर रामबाण होता है।

ज्यादा ऐल्कॉहॉल का सेवन करने के बाद चुकंदर को उबालकर खाएं। चुकंदर में बीटालेन होता है जो शरीर में मौजूद विषैले तत्वों को बेअसर करने के साथ ही उन्हें यूरीन के जरिए शरीर से बाहर निकाल देता है।

गाजर की खासियत को समझो

गाजर को लोग केवल हलुवा बनाने के लिए इस्तेमाल करते हैं, जबकि ये बहुत फायदेमंद होती है। सेब की तरह गाजर में भी detox फाइबर पाया जाता है जो शरीर को कुदरती तौर पर डीटॉक्स करने में मदद करता है।

गाजर, चुकंदर और पालक को मिलाकर हेल्दी जूस तैयार कर के उसका सेवन कर सकते हैं। ये डीटॉक्स जूस के तौर पर काम करता है। इसे सुबह पिए तो सबसे अच्छा।

ये भी पढ़िए :

तो ज्यादा खाने के बाद बॉडी को डीटॉक्स करने के लिए इन चीजों का इस्तेमाल करिए और असर देखिए।

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे Sandhya Gujral पर Like करना न भूले.

http://whatslink.co/SugarCare

Sugar Care Kit के बारे में जानना चाहते हैं, तो घर बैठे कूरियर से भारत में कहीं भी किट पाने के लिए इस लिंक पर क्लिक कीजिये – http://whatslink.co/SugarCare

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply