fbpx

एलोवेरा (Aloevera) है गुणों की खान – जाने मुँह के स्वास्थ्य के लिए एलोवेरा का टूथपेस्ट घर पर कैसे बनाये!

आज हम आपको एलोवेरा (Aloevera) से टूथपेस्ट बनाने के बारे में बता रहे हैं. शेयर ज़रूर करें!

एलोवेरा भले ही एक छोटा-सा पौधा है, लेकिन इसके गुण जगजाहिर हैं। इसके अनगिनत फायदों के कारण ही हर घर में इसे इस्तेमाल किया जाता है। एलोवेरा के फायदे अनेक हैं, चाहे वो स्वास्थ्य के लिए हों, त्वचा के लिए हों या बालों के लिए हों।

पौराणिक काल से इसे औषधि के रूप में जाना जाता है। यहां हम आपको बता दें कि फायदे के साथ-साथ एलोवेरा के नुकसान भी हैं और इस बारे में जानना भी आपके लिए ज़रूरी है। आज इस लेख में हम एलोवेरा के औषधीय गुणों के साथ-साथ एलोवेरा के नुकसान के बारे में भी बता रहे हैं।

वैसे तो एलोवेरा के बहुत से फायदे है लेकिन आज हम आपको मुँह के स्वस्थ के लिए एलोवेरा के फायदे बताने जा रहे है.

मुंह के स्वास्थ्य के लिए एलोवेरा (Aloevera) –

मुंह में बीमारी पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए एलोवेरा का उपयोग किया जा सकता है। एक भारतीय अध्ययन में कहा गया है कि दंत चिकित्सा के क्षेत्र में एलोवेरा बेहद उपयोगी हो सकता है.

एलोवेरा का उपयोग माउथ वॉश के तौर पर भी कर सकते हैं और इसका कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं होता.

इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो प्लाक के कारण मसूड़ों में आई सूजन को कम करने में मदद करता है.

एलोवेरा (Aloevera) जेल में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण कैविटी पैदा करने वाले बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ सकते हैं। यह मसूड़ों में सूजन की बीमारी खासकर पायरिया में मददगार साबित हो सकता है.

आप एलोवेरा का टूथपेस्ट घर में भी बना सकते हैं, जिसकी विधि हम नीचे शेयर कर रहे हैं।

Aloevera
Aloevera

एलोवेरा का टूथपेस्ट-

ये भी पढ़े-

सामग्री-

  • तीन चम्मच एलोवेरा जेल
  • पांच चम्मच बेकिंग सोडा
  • पांच चम्मच वेजिटेबल ग्लिसरीन
  • बारीक़ कटा हुआ पुदीना
  • नीलगिरी या फिर पुदीने का तेल
  • शीशे का जार
  • प्लास्टिक कंटेनर

बनाने की विधि-

  • आपको एलोवेरा बाज़ार में आसानी से मिल जाएगा, लेकिन ताज़ा एलोवेरा ज़्यादा फायदेमंद होता है।
  • अब शीशे के जार में बेकिंग सोडा, ग्लिसरीन,पुदीना या नीलगिरी का तेल अच्छे से मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को अच्छे से जार में रख दें।
  • आपका एलोवेरा टूथपेस्ट तैयार है।
  • अगर आप कहीं यात्रा कर रहे हैं, तो इस टूथपेस्ट को प्लास्टिक के जार में रख लें, ताकि यह लीक न हो।

ये भी पढ़ें : –

हम चाहते हैं कि हर भारतीय अंग्रेजी दवाओं की बजाय घरेलु नुस्खों और आयुर्वेद को ज्यादा अपनाये.

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं.

हमें सहयोग देने के लिए हमारे फेसबुक (Facebook) पेज – Khabar Nazar पर Like ज़रूर करें!

सुखी और संतुष्ट वैवाहिक जीवन के लिए अपनी टाइमिंग बढ़ाएं,
घर बैठे पूरे भारत में 100% आयुर्वेदिक डॉ नुस्खे हॉर्स किट की गुप्त डिलीवरी पाएं!

इस लिंक पर क्लिक करके सुरक्षित आर्डर करें!
http://whatslink.co/Horsekit

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply