fbpx

एलोवेरा के फायदे तो बेजोड़ हैं, पर क्या आपको एलोवेरा जूस के ये 5 भारी नुकसान पता हैं? ज़रूर पढ़िए!

एलोवेरा पिछले कुछ समय में बेहद काम की आयुर्वेदिक औषधि के रूप में उभर कर मशहूर हुआ है, लेकिन इसके सिर्फ फायदे ही नहीं बल्कि कुछ बड़े नुकसान भी हैं. आज हम इसी बारे में आपको बता रहे हैं.

लेकिन सबसे पहले आप नियमित जानकारियों के लिए फेसबुक पर हमारे पेज – Khabar Nazar को ज़रूर Like करें और हमारे updates रोजाना सबसे पहले पाएं.

एक बेहद प्रचलित कहावत है कि अति हर चीज़ की बुरी होती है.” यह बिलकुल सही भी है. एलोवेरा जहाँ सेहत और सुन्दरता के लिए इतने फायदे लेकर आता है, वहीँ इसका अधिक इस्तेमाल भी शरीर पर अपने दुष्प्रभाव डालने लगता है.

आइये जानते हैं इसके क्या क्या नुकसान हैं : –

त्वचा को नुकसान

ऐसे तो एलोवेरा जेल त्वचा पर लगाने से ठंडक का एहसास होता है और सही इस्तेमाल से त्वचा में कोमलता एवं सुधार होता है. लेकिन नियमित और अधिक इस्तेमाल से एलोवेरा त्वचा पर खुजली, रैश और स्थायी तौर पर लाली सी पैदा करने लगता है. ऐसा सिर्फ अत्यधिक इस्तेमाल से होता है. ज्यादा फायदे की आस में उल्टा त्वचा ख़राब होने लगती है.

ये भी पढ़े –

डिहाइड्रेशन

वजन घटाने के लिए सुबह खाली पेट एलोवेरा जूस का सेवन शुरुआत में फायदेमंद ज़रूर लगता है. लेकिन इसके फायदे दूसरी तरह से होने वाले नुकसान के सामने कम हैं. ज्यादा मात्रा में लिया गया एलोवेरा जूस शीघ्र ही शरीर में डिहाइड्रेशन पैदा करने लगता है. जिससे शरीर की सामान्य कार्यप्रणाली बुरी तरह से प्रभावित होती है और सेहत बिगड़ने लगती है. डिहाइड्रेशन आम तौर पर पायी जाने वाली लेकिन गंभीर समस्या है.

दिल को ख़तरा

एलोवेरा जूस के अधिक सेवन से शरीर में पोटासियम की मात्रा कम होने लगती है. इससे ह्रदय यानि दिल को नुकसान पहुँचता है और दिल से सम्बंधित अनेकों बीमारियाँ होने का खतरा बढ़ने लगता है.

निम्न-रक्तचाप

हाई बी पी वाले लोग भले ही एलोवेरा के सेवन से राहत महसूस कर लें लेकिन लो बी पी वाले लोगों के लिए एलोवेरा का अधिक सेवन खतरनाक सिद्ध हो सकता है. एलोवेरा के अधिक सेवन से लो बी पी वाले मरीजों की हालत ख़राब होने लगती है और यह जानलेवा भी हो सकता है.

ये भी पढ़े –

कमजोर मांसपेशियाँ

एलोवेरा में लेक्टिस पाया जाता है. यह मांसपेशियों की संरचना से जुड़ा तत्व है. एलोवेरा के अधिक सेवन से शरीर में लेक्टिस की मात्रा बढती है, जिसके परिणाम स्वरुप मांसपेशियों में कमजोरी और हर समय थकान जैसा महसूस होने लगता है. सुस्ती भी आती है.

ध्यान देने योग्य

इसमें कोई दो राय नहीं के एलोवेरा के शरीर को अलग अलग रूप में काफी फायदे हैं. लेकिन ये भी उतना ही सच है कि इसका अधिक सेवन कुछ अनचाहे परिणाम ले कर आ सकता है. किसी और को देख कर आप सीधे एलोवेरा का सेवन करना न शुरू करें. अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर करें.

साथ ही अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई है तो हमारे पेज – Khabar Nazar को फेसबुक पर LIKE शेयर करना न भूलें.

Satya Sharma

मैं अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले घरेलु नुस्खों, आयुर्वेद और देसी इलाज को ज्यादा महत्चपूर्ण और कारगर मानती हूँ. सही खान-पान से और नियमित दिनचर्या से वैसे ही बीमारियों से बचा जा सकता है. अंग्रेजी दवाओं के दुष्प्रभाव से बचाने और भारतीय चिकित्सा पद्दति को बढ़ावा देने के लिए मेरी वेबसाइट से जुड़िये और अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बताइए.

Leave a Reply